घर खरीदने से पहले इन ‘एरिया’ का भी समझ लें मतलब, नहीं तो हो सकती है परेशानी

कारपेट एरिया, बिल्ट-अप एरिया और सुपर बिल्ट अप एरिया… ये ऐसे शब्द हैं जो आम तौर पर आपको सुनाई नहीं देते होंगे. इन शब्दों का जिक्र उसी समय होता है जब कभी आप प्रॉपर्टी खरीदने का मन बनाते होंगे. एक सच्चाई ये भी है कि इन शब्दों का असल मतलब आपको तब तक नहीं पता चलता जब तक कोई गहराई से इसकी जानकारी आपको ना दे.

एजेंट्स द्वारा दी गई जानकारी तो वैसे भी आपके सिर के ऊपर से चली जाती है. ये वाकई में हकीकत है कारपेट एरिया, बिल्ट-अप एरिया और सुपर बिल्ट अप एरिया जैसे शब्द आपको भ्रम में डाल देते हैं. जिसका नतीजा ये होता है कि आप भी वही गलती कर बैठते हैं जो ज्यादातर लोग कर बैठते हैं.

यकीन मानीए अगर आपको इन शब्दों में फर्क नहीं पता तो बिल्डर आपको आसानी से बेवकूफ बना सकता है. बिल्डर की इस चाल को तभी पकड़ा जा सकता है जब आपको इन शब्दों के बारे में जानकारी हो. वैसे ये इतना कठिन भी नहीं है कि आप इनके मतलब ना समझ पाओ.

किसी भी तरह की परेशानी में पड़ने से पहले इन शब्दों के बारे में जान लीजिए-

कारपेट एरिया (Carpet area)

जैसा नाम वैसा मतलब. यानी यह वह एरिया होता है, जो कारपेट से कवर किया जाता है या यूं कहें कि ये वो एरिया है जो अंदरूनी दीवारों की मोटाई को छोड़कर अपार्टमेंट का क्षेत्रफल होता है. कारपेट एरिया असल में वह एरिया होता है, जो आप घर में रहने के दौरान इस्तेमाल करते हैं. तो जब भी आप घर ढूंढने जाएं तो कारपेट एरिया देखकर ही फैसला करें, क्योंकि नंबर से ही आपको स्पेस का सही अंदाजा होगा. आमतौर पर कारपेट एरिया बिल्ट-अप एरिया का 70 प्रतिशत होता है. आपको ये भी बता दें कि कारपेट एरिया में लॉबी, लिफ्ट, सीढ़ियों या खेलने वाले इलाके का एरिया शामिल नहीं होता.

बिल्ट-अप एरिया ( Built-up area)

कारपेट एरिया और वॉल एरिया जोड़ने के बाद बिल्ट-अप एरिया बनता है. वॉल एरिया फ्लैट की अंदरूनी दीवारों की मोटाई होती है. जो एरिया दीवारों का होता है वह बिल्ट-अप एरिया का लगभग 20 प्रतिशत है. बिल्ट-अप एरिया में अन्य क्षेत्रों जैसे बालकनी, फूलों की क्यारियां आदि शामिल हैं. इसे प्रशासन ने अनिवार्य किया हुआ है और बिल्ट-अप एरिया में यह 10 प्रतिशत का इजाफा करते हैं. इसलिए जब आप इसके बारे में सोचते हैं तो इस्तेमाल होने वाला एरिया बिल्ट-अप एरिया का 70 प्रतिशत होता है.

बिल्ड-अप एरिया को कैसे करें कैलकुलेट ?

मान लीजिए कि बालकनी और छतें बिल्ड-अप एरिया में 10 प्रतिशत की बढ़ोतरी करती हैं, लेकिन इस्तेमाल होने वाला क्षेत्र बिल्ड-अप एरिया का 70 प्रतिशत है. अगर बिल्ड-अप एरिया 1000 स्क्वेयर फुट है, तो यह 30 प्रतिशत दर्शाता है. इसका मतलब 300 स्क्वेयर फुट क्षेत्र का इस्तेमाल नहीं हो रहा है और 700 स्क्वेयर फुट एरिया ही यूज होगा.

सुपरबिल्ट-अप एरिया (Super built up area)

सुपर बिल्ट-अप एरिया की कैलकुलेशन बिल्ट-अप एरिया और कॉमन एरिया जैसे कॉरिडोर, लिफ्ट लॉबी, लिफ्ट इत्यादि को जोड़कर की जाती है. कुछ मामलों में बिल्डर्स कॉमन एरिया में पूल, गार्डस और क्लब हाउस जैसी सुविधाएं भी शामिल कर देते हैं. एक डेवलपर/बिल्डर आप पर सुपर बिल्ट-अप एरिया के आधार पर चार्ज लगाता है, इसलिए इसे ‘सेलेबल’ (बिकने योग्य) एरिया भी कहा जाता है.

कैसे कैलकुलेट करते हैं सुपर बिल्ड-अप एरिया?

उदाहरण के तौर पर अगर कारपेट एरिया 600 स्क्वेयर फुट है और बिल्डर लोडिंग 30 प्रतिशत लोडिंग को भी जोड़ देता है तो आपको 780 स्क्वेयर फुट की कीमत चुकानी होगी. जबकि आप इस्तेमाल 600 स्क्वेयर फुट कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *